राज्य

जब कोर्ट कैंपस में ही विकास सिंह के गुर्गों ने बब्लू दुबे को छलनी कर दिया

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को विकास सिंह के दिल्ली में छिपे होने की जानकारी लग गई थी जिसके बाद शुक्रवार शाम विकास सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया.

Anand Tiwari | News18India
Updated: August 27, 2018, 9:06 PM IST
जब कोर्ट कैंपस में ही विकास सिंह के गुर्गों ने बब्लू दुबे को छलनी कर दिया
बब्लू दूबे की फाइल फोटो
Anand Tiwari | News18India
Updated: August 27, 2018, 9:06 PM IST
दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बिहार के गैंगस्टर विकास सिंह को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक विकास बिहार के कुख्यात डॉन बब्लू दूबे के साथ मिलकर संगठित अपराध में लिप्त था. वो तब सुर्खियों में आया जब उसने पलक झपकते ही बेतिया कोर्ट परिसर में बब्लू दूबे को मौत के घाट उतार दिया.

दरअसल दोनों की अदावत का कारण पैसे का लेनदेन बना था. दोनों के गैंग ने बिहार और नेपाल में कई आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया था जिसके बाद करीब 50 से ज्यादा आपराधिक मामले में आरोपी बिहार के डॉन बब्लू दूबे को बिहार पुलिस ने गिरफ्तार किया. बब्लू ने अपनी गिरफ्तारी के बाद पूरे सिंडिकेट को बिहार के बक्सर जेल से ही चलाना शुरू कर दिया था.

पकड़े गए गैंगस्टर विकास सिंह और बब्लू दूबे ने ही मिलकर साल 25 मई 2016 में नेपाल के बड़े बिजनेस टायकून सुरेश केडिया का नेपाल से अपहरण किया था. इस घटना के बाद 50 करोड़ की फिरौती मांगी गई थी लेकिन 28 मई 2016 को 10 करोड़ रुपए लेकर सुरेश केडिया को छोड़ा गया था. बब्लू के कहने पर ही बक्सर जेल से मार्च 2016 में मूल रूप से नेपाल के रहने वाले और राजनीतिक परीवार से संबंध रखने वाले बिजनेसमैन सुरेश केडिया के अपहरण का प्लान बनाया गया और जेल में बन्द बब्लू ने ये जिम्मा अपने सबसे खास विकास सिंह को सौंपा था.

ये भी पढ़ें- बेतिया शूटआउट: पांच करोड़ के बंटवारे में नाराज 'शागिर्दों' ने ही बब्लू को उतारा मौत के घाट !

विकास और दो और बदमाशों ने मिलकर नेपाल के वीर गंज से मार्च 2016 में ही सुरेश केडिया को हथियार के बल पर किडनैप किया इसके बाद बिहार में ही सुरेश केडिया को तीन दिन तक छिपा कर रखा गया और फिर बिजनेसमैन के घरवालों से 50 करोड़ की फिरौती मांगी गई. दिल्ली के चांदनी चौक में अपहरणकर्ताओं ने 10 करोड़ की रकम लेकर बिहार में सुरेश केडिया को छोड़ दिया था.

जब शुरू हुई बब्लू दूबे और गैंगस्टर विकास सिंह के बीच दरार

बताया जाता है की बब्लू ने फिरौती में मिले 10 करोड़ रुपए खुद डकार लिये इसी बात से खफा विकास सिंह ने अपना अलग गैंग बनाया और फिर अपने 10 साथियों की मदद से बेतिया कोर्ट में पेशी के दौरान आये बब्लू को गोलियों से भून दिया. उस वक्त 2016 में बिहार पुलिस ने विकास के 10 शॉर्प शूटरों को तो गिरफ्तार कर लिया पर विकास सिंह यूपी और दिल्ली में छिपा रहा.
Loading...
दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को विकास सिंह के दिल्ली में छिपे होने की जानकारी लग गई थी जिसके बाद शुक्रवार शाम विकास सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया. बिहार पुलिस और दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के सूत्र बताते हैं कि बबलू का नेपाल में एक बड़ा होटल था और यहीं से उसके दिमाग में नेपाल के बिजनेसमैन सुरेश केडिया के अपहरण का प्लान आया था.

बताया जाता है कई सुरेश केडिया राजनितिक परीवार से ताल्लुक रखते हैं और उनके नेपाल में कई बिजनेस हैं. मृतक बब्लू पर  बिहार में हत्या फिरौती के करीब 50 मामले दर्ज थे. क्राइम ब्रांच के डीसीपी राम गोपाल नाइक के मुताबिक एसीपी अरविन्द कुमार और इंस्पेक्टर अरविन्द लांबा की टीम ने आरके पुरम संगम सिनेमा के पास से विकास सिंह को गिरफ्तार किया है.

पकड़ा गया विकास दिल्ली में भी कॉन्ट्रैक्ट किलिंग का धंधा दिल्ली एनसीआर में शुरू करना चाहता था पर उससे पहले ही वो क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ गया. फिलहाल विकास सिंह को बिहार पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर बिहार लेकर गई है.
IBN7 खबर हुआ News18 इंडिया - Hindi News से जुड़े लगातार अपडेट हासिल करे और पढ़े Delhi News in Hindi.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...