OMG! यहां दिन में तीन बार बदलता है शिवलिंग का रंग

अचलेश्वर महादेव मन्दिर में शिवलिंग दिन में तीन बार अपना रंग बदलता है. सुबह के समय शिवलिंग लाल रंग का होता है तो दोपहर तक यह केसरिया रंग में बदल जाता है, जबकि रात होते-होते यह श्‍याम रंग का हो जाता है.

News18Hindi
Updated: August 20, 2018, 5:03 PM IST
OMG! यहां दिन में तीन बार बदलता है शिवलिंग का रंग
अचलेश्वर मंदिर राजस्थान के धौलपुर जिले में है
News18Hindi
Updated: August 20, 2018, 5:03 PM IST
शिव का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है. इसीलिए शिव को देवों के देव महादेव के नाम से भी पुकारा जाता है. पौराणिक कथाओं में भी भगवान शिव के कई चमत्कारों का उल्लेख मिलता है. देश में भगवान शिव के हजारों मंदिर हैं, जिनमें से कुछ के तो ऐसे चमत्कार हैं, जिनका रहस्य आजतक विज्ञान भी पता नहीं लगा पाया है.

ऐसा ही एक मंदिर राजस्थान के धौलपुर जिले में स्थित है, जिसे अचलेश्वर महादेव मन्दिर के नाम से जाना जाता है. धौलपुर जिला राजस्थान और मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित है. यह इलाका चम्बल के बीहड़ों के लिये प्रसिद्ध है. इन्ही दुर्गम बीहड़ों में है अचलेश्वर महादेव का मन्दिर.

इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत है यहां स्थित शिवलिंग दिन में तीन बार अपना रंग बदलता है. वैसे तो देखने में यह बिल्‍कुल आम शिवलिंग की तरह ही है, लेकिन इसके बदलते हुए खूबसूरत रंग सभी को हैरान कर देते हैं. आखिर यह शिवलिंग दिन में तीन बार अपना रंग कैसे बदलता है. इसके बारे में खुद वैज्ञानिकों को भी कुछ पता नहीं है. लोगों के मुताबिक इस शिवलिंग का रंग सुबह के समय लाल होता है तो दोपहर तक यह केसरिया रंग में बदल जाता है. उसके बाद रात होते-होते ये श्‍याम रंग का हो जाता है.

इसके साथ ही यह भी कहा जाता है कि इस शिवलिंग का अंतिम छोर कहा है, इसके बारे में आज तक कोई पता नहीं लगा पाया है. यहां के स्थानीय निवासी बताते हैं कि इस शिवलिंग की जड़ तक कोई नहीं पहुंच पाया. शिवलिंग कितनी गहराई से जमीन से जुड़ा हुआ है, इसका पता लगाने के लिए इसकी खुदाई का काम कई दिनों तक चला मगर लोग इसके अंतिम छोर तक नहीं पहुंच पाए और उसके बाद खुदाई का काम रोक दिया गया.

अचलेश्वर महादेव मंदिर में लोगों की काफी गहरी श्रद्धा है. लोगों का कहना है कि शिवलिंग के दर्शन करने से इंसान की सभी इच्‍छाएं पूर्ण होती है और जीवन की सभी तकलीफ दूर हो जाती हैं. लोगों की श्रद्धा का आलम ये हैं कि यहां आने वाले भक्ति का मनचाहे जावन साथी की कामना करते हैं.

इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि अगर कोई अविवाहित मन में मुराद लेकर इस शिवलिंग के दर्शन कर ले तो उनकी जीवनसाथी पाने की कामना जल्द ही पूर्ण हो जाती है.
IBN7 खबर हुआ News18 इंडिया - Hindi News से जुड़े लगातार अपडेट हासिल करे और पढ़े Delhi News in Hindi.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...