‘NEET Result से पता चला, ज्यादा से ज्यादा स्टूडेंट्स ने चुना गैर-क्लिनिकल पाठ्यक्रम’

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय में संयुक्त सचिव सुधांश पंत ने कहा कि जब हमने नीट परिणामों का विश्लेषण किया तो मैंने महसूस किया कि अधिक से अधिक छात्र एनाटोमी, फिजियोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री और माइक्रोबायोलॉजी जैसे पैरामेडिकल विषयों में दिलचस्पी ले रहे हैं.

भाषा
Updated: August 21, 2018, 4:13 PM IST
‘NEET Result से पता चला, ज्यादा से ज्यादा स्टूडेंट्स ने चुना गैर-क्लिनिकल पाठ्यक्रम’
सांकेतिक तस्वीर
भाषा
Updated: August 21, 2018, 4:13 PM IST
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ साल में नीट के नतीजे यह दर्शाते हैं कि अधिक से अधिक छात्र मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों में गैर-क्लिनिकल पाठ्यक्रम चुन रहे हैं.

ये भी पढ़ें- अब साल में दो बार होंगे NEET और JEE के एग्जाम!

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय में संयुक्त सचिव सुधांश पंत ने ‘नये भारत में बायोमेडिकल वैज्ञानिकों की भूमिका’ विषय पर चर्चा के दौरान यह बात कही. चर्चा का आयोजन नेशनल एमएससी टीचर्स एसोसिएशन (एनएमएमटीए) ने किया था. एनएमएमटीए भारत में मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों के गैर-क्लिनिकल विभागों में गैर चिकित्सा शिक्षकों का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था है.

ये भी पढ़ें- बिहार की कल्पना कुमारी ने किया CBSE NEET में टॉप, देखिए उनकी मार्कशीट

एनएमएमटीए भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है. एमसीआई का कथित रूप से कॉलेजों में गैर चिकित्सा शिक्षकों की नियुक्ति 30 प्रतिशत से घटाकर 15 प्रतिशत करने का प्रस्ताव है.

ये भी पढ़ें- NEET 2018 Result: CBSE ने जारी किया नीट का रिजल्ट, यहां करें चेक

पंत ने कहा, ‘एमएससी शिक्षकों की भूमिका महत्वपूर्ण है. जब हमने नीट परिणामों का विश्लेषण किया तो मैंने महसूस किया कि अधिक से अधिक छात्र एनाटोमी, फिजियोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री और माइक्रोबायोलॉजी जैसे पैरामेडिकल विषयों में दिलचस्पी ले रहे हैं.’
Loading...
ये भी पढ़ें- NEET Exam 2018: सिख स्टूडेंट्स को राहत, कड़ा-कृपाण के साथ दे सकते हैं एग्जाम
IBN7 खबर हुआ News18 इंडिया - Hindi News से जुड़े लगातार अपडेट हासिल करे और पढ़े Delhi News in Hindi.
Loading...

और भी देखें

Updated: June 25, 2018 03:25 PM ISTइनकी पेंसिल की नोक पर है बुद्ध भी, मोबाइल फोन भी
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...