#PGStory: घर आए दोस्त ने रूममेट के कैसरोल से रोटी ली तो उसने 'तांडव' कर दिया

कहानी, लड़ाकू रूममेट की.

News18Hindi
Updated: August 28, 2018, 9:59 AM IST
#PGStory: घर आए दोस्त ने रूममेट के कैसरोल से रोटी ली तो उसने 'तांडव' कर दिया
कहानी, लड़ाकू रूममेट की.
News18Hindi
Updated: August 28, 2018, 9:59 AM IST
(News18 हिन्दी की सीरीज़ 'पीजी स्‍टोरी' की ये 70वीं कहानी है. इस सीरीज में पीजी में रहने वाली उन लड़कियों और लड़कों के तजुर्बों को सिलसिलेवार साझा किया जा रहा है, जो अपने घर, गांव, कस्‍बे और छोटे शहर से निकलकर महानगरों में पढ़ने, अपना जीवन बनाने आए. हममें से ज़्यादातर साथी अपने शहर से दूर, कभी न कभी पीजी में रहे या रह रहे हैं. मुमकिन है, इन कहानियों में आपको अपनी जिंदगी की भी झलक मिले. आपके पास भी कोई कहानी है तो हमें इस पते पर ईमेल करें- ask.life@nw18.com. आपकी कहानी को इस सीरीज में जगह देंगे.

ये कहानी एक लड़की की है, जो नौकरी के चलते पंजाब से दिल्ली शिफ्ट हुई. दफ्तर नोएडा के नज़दीक था, तो उसने पीजी भी नाएडा के पास ही लिया. वहां उसे ऐसी फ्लैटमेट मिली जो छोटी-छोटी चीज़ों पर बखेड़ा खड़ा करती थी.)

पंजाब से दिल्ली पढ़ाई करने के लिए दिल्ली आई और नोएडा के एक पीजी में रहा. वहां 4bhk फ्लैट था और 4 ही लड़कियां थे. दिल्ली में बस एक दोस्त था, जिसे में पहले से जानती थी. कहीं भी घूमने जाना हो या कुछ खरीदने. उसी के साथ जाती थी. पीजी भी उसी के साथ मिलकर ढूंढा था. मेरे अलावा पीजी की दो लड़कियां मिजाज से दोस्ताना थीं और तीसरी सख्त. हम तीन लड़कियों का खाना साथ बनाता था और चौथी का अलग.

दिल्ली में मौजूद मेरा इकलौता दोस्त अक्सर पीजी में आता था. लगभग सभी फ्लैटमेट उससे रूबरू थे. एक सुबह, दोस्त को मेरे पीजी के नज़दीक ही कहीं मीटिंग में जाना था. उसने मेरे फ्लैट पर ठहरना सही समझा. वो अक्सर वहां आता रहता था. मैं दफ्तर से आकर सो गई और काम वाली आंटी से उसके लिए भी खाना बनवा दिया था.



उसने अपना काम निपटाकर डिनर कर लिया था. सुबह मैं अपने दफ्तर चली गई और वो अपने. ऑफिस पहुंचते ही मेरी चौथी फ्लैटमेट के मैसेज पे मैसेज आने शुरू हुए. दोस्तों को बुलाती हो तो अपना खाना खिलाया करो. ब्ला... ब्ला... ब्ला...

सारा मामला मेरी समझ से बाहर था. मैंने पूरी कहानी दूसरी रूममेट से पूछी तो पता चला, उसने उस चौथी लड़की के कैसरोल से रोटी ले ली थी. इसीलिए वो उसने फ्लैट में सुबह-सुबह तांडव कर दिया था. जबकि दूसरे कैसरोल में रोटी थीं, जो उसके नहीं देखीं.
Loading...
हालांकि, मैंने उससे कहा तुम एक बार देख तो लेतीं, दूसरे कैसरोल में दो लोगों के हिस्से की रोटियां रखी थीं. इतना तमाशा करने की क्या ज़रूरत थी. लेकिन उसके पास हर बात पर नया जवाब था, उसका कहना था वो रोटियां बासी थीं.

पढ़ें, इस सीरीज बाकी कहानियां-
#PGStory: मैंने उसके पूरे खानदान के सामने कहा, रात को गमले में पेशाब करना बंद कर दो#PGStory: 'डेट पर गई दोस्त को देर रात पीजी वापस लाने के लिए बुलाई एम्बुलेंस'
#PGStory: 'गर्लफ्रेंड और मैं कमरे में थे, पापा पहुंच गए सरप्राइज देने'
#PGStory: कुकर फट चुका था और मैं चिल्ला रहा था- 'ओह शिट, आय एम डेड'
#PGStory: 'गाड़ी रुकी, शीशा नीचे हुआ और मुझसे पूछा- मैडम, आर यू इंटरेस्टेड टू कम विद मी?'
#PGStory: 'वो चाकू लेकर दौड़ी और मुझसे बोली, सामान के साथ मेरा पति भी चुरा लिया'
#PGStory: 'जब 5 दोस्त नशे में खाली जेब दिल्ली से उत्तराखंड के लिए निकल गए'
#PGStory: '3 दोस्त डेढ़ दिन से पी रहे थे,अचानक हम में से एक बोला- इसकी बॉडी का क्या करेंगे'
#PGStory: 'डेट पर गई दोस्त को देर रात पीजी वापस लाने के लिए बुलाई एम्बुलेंस'

इस सीरीज की बाकी कहानियां पढ़ने के लिए नीचे लिखे  PG Story पर क्लिक करें.
IBN7 खबर हुआ News18 इंडिया - Hindi News से जुड़े लगातार अपडेट हासिल करे और पढ़े Delhi News in Hindi.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...