कोहली ने जिस हथियार से किया था द. अफ्रीका का शिकार, अब इंग्लैंड पर करेंगे वैसा ही वार!

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस साल की शुरुआत में जोहानसबर्ग में भी कोहली ने यही रणनीति अपनाई थी और बड़ी जीत दर्ज की थी.

News18Hindi
Updated: August 29, 2018, 3:49 PM IST
कोहली ने जिस हथियार से किया था द. अफ्रीका का शिकार, अब इंग्लैंड पर करेंगे वैसा ही वार!
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस साल की शुरुआत में जोहानसबर्ग में भी कोहली ने यही रणनीति अपनाई थी और बड़ी जीत दर्ज की थी.
News18Hindi
Updated: August 29, 2018, 3:49 PM IST
साउथहैंप्टन में भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का चौथा टेस्ट 30 अगस्त से शुरू हो रहा है. खबरें हैं कि इस पिच पर क्यूरेटर ने हरी घास छोड़ी है, जिससे एक बात साफ हो जाती है कि तेज गेंदबाजों को खासी मदद मिलेगी. भारत इंग्लैंड में एक महीने से है, लेकिन वह ऐसी पिच में नहीं खेले जहां इतनी ज्यादा घास छोड़ी गई है. ऐसे में एक बात साफ हो जाती है कि इंग्लैंड का मकसद भारतीय टीम को हराते हुए सीरीज अपने नाम करने का है. जाहिर है कि नॉटिंघम में हार के बाद इंग्लैंड टीम बौखलाई हुई है और वे अपने तेज गेंदबाजों का भरपूर इस्तेमाल करने के लिए तैयार हैं. लेकिन भारतीय टीम किसी भी चुनौती का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है.

भारत के पास एक ऐसा तेज गेंदबाजी आक्रमण है जो किसी भी विपक्षी टीम को चुनौती दे सकता है. मंगलवार के प्रैक्टिस सेशन के लिहाज से बात करें तो तेज गेंदबाज उमेश यादव जिन्हें पहले टेस्ट के बाद अंतिम एकादश से बाहर बिठा दिया गया था. उनके साथ कोहली ने मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा से लंबी बातचीत की. अगर कोहली उमेश यादव को अंतिम एकादश में जगह देते हैं तो इसका मतलब है कि टीम इंडिया पांच तेज गेंदबाजों के साथ उतरेगी.

ये भी पढ़ें: टीम इंडिया की जीत से 'बौखलाए' इंग्लैंड ने बनाई 'आत्मघाती' रणनीति!

द. अफ्रीका के खिलाफ इस साल की शुरुआत में जोहान्सबर्ग में भी कोहली ने यही रणनीति अपनाई थी और बड़ी जीत दर्ज की थी. लेकिन इसका मतलब ये भी है कि अश्विन और जडेजा दोनों को टीम में जगह नहीं मिलेगी. ये बात और है कि दोनेों नेट्स में गेंदबाजी करते नजर आए हैं.

अश्विन अपनी चोट से उबर रहे हैं और वह प्रैक्टिस सेशन में गेंदबाजी और बल्लेबाजी करते नजर आए हैं. अभी टीम ने आधिकारिक तौर पर घोषणा नहीं की है कि वह चौथे टेस्ट के लिए फिट हैं कि नहीं. वैसे तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का 5 तेज गेंदबाजों के साथ उतरने को लेकर मत कुछ और है. उन्होंने कहा, "5 तेज गेंदबाजों को खिलाना मुश्किल है. क्योंकि अगर चौथे या पांचवें दिन गेंद टर्न करने लगी तो क्या होगा?"

वैसे कोहली अपनी कप्तानी में साहसी फैसलों के लिए जाने जाते हैं. ऐसे में जिस तरह के हालात दिखाई दे रहे हैं उन्हें देखते हुए कोहली 5 तेज गेंदबाजों के साथ उतरें तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी.
IBN7 खबर हुआ News18 इंडिया - Hindi News से जुड़े लगातार अपडेट हासिल करे और पढ़े Delhi News in Hindi.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...