फेसबुक ने मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों में म्यांमार सेना प्रमुख समेत इन अफसरों को किया बैन

इन पेजों और अकाउंट्स को 1.20 करोड़ लोग फॉलो कर रहे थे. सोशल मीडिया कंपनी ने कहा कि हम ऐसे लोगों को रोकना चाहते हैं, जो हमारी सेवाओं का इस्तेमाल धार्मिक और जातिवादी विवादों को भड़काने में कर रहे हैं.

News18Hindi
Updated: August 27, 2018, 11:03 PM IST
फेसबुक ने मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों में म्यांमार सेना प्रमुख समेत इन अफसरों को किया बैन
म्यांमार के सेना प्रमुख जनरल हलैंग (फाइल)
News18Hindi
Updated: August 27, 2018, 11:03 PM IST
फेसबुक ने सोमवार को म्यांमार के सेना प्रमुख जनरल हलैंग और वहां के कई अन्य सैन्य अफसरों के अकाउंट बंद कर दिए हैं. उनकी ओर से नफरत भरे भाषण और फेक न्यूज पोस्ट की जा रही थीं. यूनाइटेड नेशंस (यूएन) ने सोमवार को म्यांमार आर्मी के जनरल मिन ऑन्ग हलैंग समेत अन्य आला अफसरों को जातिसंहारक कहा था.

पाक रेलवे अधिकारी की गुहार- नए रेल मंत्री का व्यवहार बुरा, दो साल की छुट्टी दे दें

यूएन का कहना था कि इन लोगों के अभियान के कारण अगस्त 2017 में हजारों मुस्लिम रोहिंग्या बांग्लादेश चले गए थे. फेसबुक ने बताया कि इन सैन्य अफसरों से संबंधित 18 फेसबुक अकाउंट, 52 फेसबुक पेज और एक इंस्टाग्राम अकाउंट ब्लॉक किया गया. साथ ही, उन पर पोस्ट किया गया डेटा और कंटेंट हटा दिया गया.

फेसबुक के मुताबिक, इन पेजों और अकाउंट्स को 1.20 करोड़ लोग फॉलो कर रहे थे. सोशल मीडिया कंपनी ने कहा कि हम ऐसे लोगों को रोकना चाहते हैं, जो हमारी सेवाओं का इस्तेमाल धार्मिक और जातिवादी विवादों को भड़काने में कर रहे हैं.

पोस्टर : इमरान खान ने अपनाई पीएम मोदी की योजनाएं

दरअसल, यूएन के फैक्ट फाइंडिंग मिशन ने सोमवार को जेनेवा में एक रिपोर्ट पेश की थी. इसमें बताया गया कि रोहिंग्या अल्पसंख्यकों के खिलाफ सैन्य अभियान एक साल पहले शुरू हुआ था. म्यांमार की सेना के इस अभियान को रोकने के लिए शांति का नोबेल से सम्मानित आंग सान सू की की सरकार ने भी पर्याप्त कदम नहीं उठाए.

यूएन ने अपनी रिपोर्ट में जनरल हलैंग, उसके जूनियर सू विन समेत चार अन्य आर्मी अधिकारियों के खिलाफ अभियोजन चलाने की मांग की है. (एजेंसी इनपुट)
IBN7 खबर हुआ News18 इंडिया - Hindi News से जुड़े लगातार अपडेट हासिल करे और पढ़े Delhi News in Hindi.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...