जापान: कंपनी को करना था सेफ्टी चेक, कर्मचारियों को बैठा दिया बुलेट ट्रेन के ट्रैक किनारे

इस मामले को लेकर विवादों में घिरी कंपनी जेआर वेस्ट के प्रवक्ता का कहना है कंपनी का फिलहाल इस एक्सरसाइज़ को बंद करने का कोई इरादा नहीं है.

News18.com
Updated: August 28, 2018, 9:29 AM IST
जापान: कंपनी को करना था सेफ्टी चेक, कर्मचारियों को बैठा दिया बुलेट ट्रेन के ट्रैक किनारे
इस मामले को लेकर विवादों में घिरी कंपनी जेआर वेस्ट के प्रवक्ता का कहना है कंपनी का फिलहाल इस एक्सरसाइज़ को बंद करने का कोई इरादा नहीं है.
News18.com
Updated: August 28, 2018, 9:29 AM IST
जापान की एक रेल कंपनी अपनी सेफ्टी एक्सरसाइज़ को लेकर विवादों में घिर गई है. दरअसल इस एक्सरसाइज़ के तहत कर्मचारियों को एक सुरंग में 300 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ती बुलेट ट्रेन के ट्रैक के किनारे बैठना पड़ा. हालांकि कंपनी जेआर वेस्ट के प्रवक्ता ने कहा फिलहाल कंपनी का इस एक्सरसाइज़ को बंद करने का कोई इरादा नहीं है.

ये भी पढ़ेंः बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट से जुड़ी कुछ अहम बातें जो आपको जाननी चाहिए

कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि जापान की जानी-मानी शिंकनसेन बुलेट ट्रेन की सुरक्षा को लेकर काम करने वाले इन 190 कर्मचारियों की ट्रेनिंग हुई है. ट्रेनिंग में उन्हें उनके जॉब से जुड़ी ट्रेनिंग दी जाती है. उन्होंने बताया कि हम इस ट्रेनिंग को जारी रखेंगे, जब तक यह हमारा मकसद पूरा करता रहेगा और सुरक्षित रहेगा.

ये भी पढ़ेंः सेफ नहीं है जापानी बुलेट ट्रेन, चलती ट्रेन में आई दरार



बता दें कि अगस्त 2015 में बुलेट ट्रेन का पिछला हिस्सा अलग हो जाने के बाद बाद कंपनी ने एक ट्रेनिंग प्रोग्राम 2016 में शुरू किया. इस ट्रेनिंग का मकसद कर्मचारियों को यह बताना था कि ट्रेन काफी तेज़ चलती है और इसलिए उन्हें काफी सतर्क रहने की ज़रूरत है, लेकिन कुछ कर्मचारियों को यह नागवार गुजरा.

जापान की बेहतरीन क्षमता वाली यह शिंकनसेन ट्रेन नेटवर्क लगभग पूरे देश में फैली हुई है. जापान की इस ट्रेन का सुरक्षा को लेकर आज तक का रिकॉर्ड काफी अच्छा है. लगभग 50 सालों से अपनी सेवाएं दे रही इस ट्रेन में आज तक किसी दुर्घटना में कोई मारा नहीं गया. इसके अलावा टाइम को लेकर भी यह ट्रेन काफी पंक्चुअल है.
IBN7 खबर हुआ News18 इंडिया - Hindi News से जुड़े लगातार अपडेट हासिल करे और पढ़े Delhi News in Hindi.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...